सरे राह…..कहीं कोई मिल जाये ….हमसफ़र पर तन्हा तन्हा चाँद रहा तन्हा तन्हा जीवन का आसमाँ ….लफ्ज़ों ने कहा…..चांद तन्हा है आसमाँ तन्हादिल मिला है कहाँ कहाँ तन्हा…..राह देखा करेगा सदियों तकछोड़ जायेंगे ये जहाँ तन्हा……इश्क ने मारा ऐसा मारा…