Celebrating Great Writing

Category: birth Anniversary

इस ख़ाना-ए-हस्ती से गुज़र जाऊँगा बे-लौस साया हूँ फ़क़त नक़्श-ब-दीवार नहीं हूँ अफ़्सुर्दा हूँ इबरत से दवा की नहीं हाजत ग़म का मुझे ये ज़ोफ़ है बीमार नहीं हूँ वो गुल हूँ ख़िज़ाँ ने जिसे बर्बाद किया है उलझूँ किसी…

Miss Tondon met with an accident and has expired” (कुमारी टंडन का एक्सीडेण्ट हुआ और उनका देहान्त हो गया है)। निदा बहुत दु:खी हुए और उन्होंने पाया कि उनका अभी तक का लिखा कुछ भी उनके इस दुख को व्यक्त…

जिस दिन से एक महिला रात में सड़कों पर स्वतंत्र रूप से चलने लगेगी, उस दिन से हम कह सकते हैं कि भारत ने स्वतंत्रता हासिल कर ली हैं।English: The day a woman can walk freely on the roads at…

तो उचित है, नर इसे सुन ले ठहर कर,प्रेम करने को भले ही वह न ठहरे। (३)मंत्र तुमने कौन यह माराकि मेरा हर कदम बेहोश है सुख से?नाचती है रक्त की धारा,वचन कोई निकलता ही नहीं मुख से। (४)पुरुष का…

मैं वह लानत हूँजो इन्सान पर पड़ रही हैमैं उस वक़्त की पैदाइश हूँजब तारे टूट रहे थेजब सूरज बुझ गया थाजब चाँद की आँख बेनूर थीमेरी माँ की कोख मज़बूर थी मैं एक ज़ख्म का निशान हूँ,मैं माँ के…

मंटो ने लिखा, “मत कहिए कि हज़ारों हिंदू मारे गए या फिर हज़ारों मुसलमान मारे गए। सिर्फ ये कहिए कि हज़ारों इंसान मारे गए और ये भी इतनी बड़ी त्रासदी नहीं है कि हज़ारों लोग मारे गए। सबसे बड़ी त्रासदी…

उषा महावर तुझे लगाती, संध्या शोभा वारेरानी रजनी पल-पल दीपक से आरती उतारे,सिर बोकर, सिर ऊँचा कर-कर, सिर हथेलियों लेकरगान और बलिदान किए मानव-अर्चना सँजोकरभवन-भवन तेरा मंदिर हैस्वर है श्रम की वाणीराज रही है कालरात्रि को उज्ज्वल कर कल्याणी।। वह…

जेल में भी रहना पड़ा। इसी समय वे कई साल पाकिस्तान से दूर यूनाइटेड किंगडम और कनाडा देशों में रहे। अहमद फ़राज़ ने रेडियो पाकिस्तान में भी नौकरी की और फिर अध्यापन से भी जुड़े। उनकी प्रसिद्धि के साथ-साथ उनके…

पृथ्वी लाखों वर्ष पुरानी जीवन एक अनन्त कहानी पर तन की अपनी सीमाएँ यद्यपि सौ शरदों की वाणी इतना काफ़ी है अंतिम दस्तक पर, खुद दरवाज़ा खोलें! जन्म-मरण अविरत फेरा जीवन बंजारों का डेरा आज यहाँ, कल कहाँ कूच है…

सोचता हूँ, मैं कब गरजा था ? जिसे लोग मेरा गर्जन समझते हैं, वह असल में गाँधी का था, उस गाँधी का था, जिस ने हमें जन्म दिया था । तब भी हम ने गाँधी के तूफ़ान को ही देखा,…

Back to top